Tuesday, May 11th, 2021
Close X

मार्च के महीने में खुदरा महंगाई दर 5.52 फीसदी रही

मुंबई
मार्च महीने के लिए रिटेल महंगाई का डेटा आ गया है. मार्च के महीने में खुदरा महंगाई दर 5.52 फीसदी रही. फरवरी महीने में यह 5.03 फीसदी रही थी. जनवरी में रिटेल महंगाई दर 4.06 फीसदी रही थी जो अक्टूबर 2019 के बाद सबसे निचला स्तर था. वहीं फरवरी महीने के लिए इंडस्ट्रियल प्रोडक्शन इंडेक्स माइनस 3.6 फीसदी रहा.

मार्च के महीने में फूड इंफ्लेशन में ज्यादा उछाल आया है. मार्च में यह 4.94 फीसदी रहा जबकि फरवरी में फूड इंफ्लेशन 3.87 फीसदी रहा था. फ्यूल और लाइट कैटिगरी में भी इंफ्लेशन में उछाल आया है और यह 4.50 फीसदी रहा जबकि फवरी में यह आंकड़ा 3.53 फीसदी रहा था. यह लगातार चौथा महीना है जब रिटेल इंफ्लेशन रिजर्व बैंक के 4 फीसदी के दायरे (अपर लिमिट 6 फीसदी) में है.
अगले पांच सालों के लिए रिटेल इंफ्लेशन 4 फीसदी का लक्ष्य

रिजर्व बैंक ने मार्च के महीने में अगले पांच सालों के लिए (मार्च 2026 तक) रिटेल इंफ्लेशन को 4 फीसदी (+/-2 फीसदी) के दायरे में रखने का फैसला किया है. रिटेल इंफ्लेशन के रेट के आधार पर ही रिजर्व बैंक अपनी मॉनिटरी पॉलिसी तैयार करता है. पिछले सप्ताह RBI MPC की बैठक हुई थी. लगातार पांचवीं बार आरबीआई ने रेपो रेट में कोई बदलाव नहीं किया.
कहां-कहां आई गिरावट

फरवरी 2021 में इंडस्ट्रिल प्रोडक्शन इंडेक्स में पिछले साल के मुकाबले 3.6 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई है. इसमें माइनिंग सेक्टर में 5.5 फीसदी, मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर में 3.7 फीसदी, प्राइमरी गुड्स सेक्टर में 5.1 फीसदी, कैपिटल गुड्स में 4.2 फीसदी, इंटरमीडिएट गुड्स में 5.6 फीसदी, इन्फ्रास्ट्रक्चर सेक्टर में 4.7 फीसदी और कंज्यूमर नॉन-ड्यूरेबल सेक्टर में 3.8 फीसदी की गिरावट आई है. हालांकि कंज्यूमर ड्यूरेबल में 6.3 फीसदी और इलेक्ट्रिस्टी कंजप्शन में 0.1 फीसदी का सुधार दर्ज किया गया है.

Source : Agency

आपकी राय

10 + 1 =

पाठको की राय