Monday, October 18th, 2021
Close X

अरेंज मैरिज पर खुलकर बोलीं मीरा, 14 साल बड़े शाहिद से शादी करने पर मीरा राजपूत ने बताए थे फायदे

इस बात में कोई दोराय नहीं कि भारत में अभी भी परिवार की ओर से तय की जाने वाली शादियों का चलन है, जिसके पीछे का सबसे बड़ा कारण क्योंकि इस तरह की शादियां प्रेम विवाह के मुकाबले अधिक सफल होती हैं। हालांकि, पितृसत्तात्मक समाज में विवाह को सफल बनाए रखने का ज्यादातर दायित्व महिलाओं पर ही होता है। ऐसा इसलिए क्योंकि अधिकांश घरों में पुरुष कमाने वाले होते हैं, जिसकी वजह से वह आर्थिक रूप से अपने साथी पर निर्भर रहती हैं। यही एक वजह भी है कि बहुत सी महिलाएं कड़वे अलगाव से गुजरने के बाद भी तलाक का रास्ता नहीं अपनातीं।


हालांकि, पति-पत्नी के बीच न बन पाने की बहुत ही वजहों को माना गया है लेकिन उम्र का अंतर एक बड़ा मानक है, जिसकी वजह से बहुत से शादीशुदा जोड़े अलग हुए हैं। खैर, साथी के साथ उम्र में बड़े अंतर को शाहिद कपूर की पत्नी मीरा राजपूत पूरी तरह निराधार मानती हैं। उनका कहना है कि अपने से बड़े साथी से आपको बहुत सी चीजें सीखने को मिल सकती है, जोकि आपके शादीशुदा रिश्ते के लिए भी फायदेमंद साबित हो सकती हैं।


शाहिद कपूर और उनकी पत्नी मीरा राजपूत की उम्र में करीब 14 साल का अंतर है। लेकिन इससे उनके रिश्ते पर कभी किसी तरह का कोई असर नहीं पड़ा है, जिस पर बात करते हुए मीरा ने कहा भी था 'अलग बैकग्राउंड्स से होने के बाद भी मैंने अपनी शादी को कभी भी एक चैलेंज की तरह नहीं लिया।

मुझे दिल्ली से मुंबई शिफ्ट होना अच्छा लगा। मुझे साउथ मुंबई हमेशा से पसंद था। यहां तक कि हमने अपनी पहली एनिवर्सरी कोलाबा में द टेबल में साथ खाना खाकर सेलिब्रेट की थी। मैंने मुंबई की जिंदगी और उसे जीने के तरीके को पूरी तरह अपना लिया है। मैंने शादी के बाद पहली बार रिप्ड जींस पहनी थी। इसके अलावा जिंदगी जीने के लिए शाहिद की सरलता हमेशा मेरे काम आई।

शाहिद मुझसे 14 साल बड़े हैं, तो इससे हमारे रिश्ते में कभी कोई फर्क नहीं पड़ा। मैं उनके एक्सपीरियंस का फायदा लेती हूं और वह मेरे नए नजरिए का फायदा उठा सकते हैं। मैं खुद को सबसे ज्यादा तब पसंद करती हूं जब मैं शाहिद के साथ होती हूं।' हालांकि, पति-पत्नी के बीच उम्र के गैप को मजबूरी या पैसे का लालच से जोड़कर देखा जाता है। लेकिन इस मिथक को शाहिद-मीरा की जोड़ी हमेशा ही तोड़ती नजर आई है।

उम्र के अंतर को लेकर साइंस क्या कहता है?
भारतीय समाज में आज भी पति-पत्नी के बीच उम्र के अंतर को सही नहीं माना जाता है। पति बड़ा हो तो वह बाप की उम्र का लगता है। वहीं पत्नी बड़ी हो तो वह मां कहलाने लगती है। हालांकि, अटलांटा के एमोरी विश्वविद्यालय में 3,000 लोगों पर किया गया एक अध्ययन कहता है कि जिन कपल के बीच पांच साल का अंतर होता है उनके बीच तलाक होने की संभावना 18% होती है। जबकि एक साल के अंतर वाले कपल्स के अलग होने के चांसेस सिर्फ तीन प्रतिशत होते हैं।

वहीं जिस पति-पत्नी में 10 साल का अंतर होता है, उनकी शादी टूटने की संभावना 39% बढ़ जाती है। वहीं 20 साल के अंतर वाले दंपति में तलाक होने संभावना 95% है, जो सबसे अधिक है। यही नहीं, शादी के बाद जिन पति-पत्नी का पहला बच्चा होता है उनमें नि:संतान दंपतियों के मुकाबले अलग होने की संभावना 59% कम हो जाती है।

जोड़ों के लिए दो साल बेहद जरूरी
कहते हैं कि शादी के पहले दो साल पति-पत्नी दोनों के लिए ही बहुत महत्वपूर्ण माने जाते हैं। शादी के शुरुआती चरण के दौरान जहां कुछ कपल्स खुश रहने और समझने के लिए एक-दूसरे से जुड़े रहना चाहते हैं, तो वहीं बहुत कपल्स खुद को सारी कई जिम्मेदारियों से बंधा हुआ महसूस करने लगते हैं, जिसकी वजह से दोनों लोगों के बीच नकारात्मक भावनाएं पैदा हो जाती हैं।

एक स्टडी बताती है कि अगर शादीशुदा जोड़े दो साल तक साथ रहे हैं, तो उनमें तलाक की संभावना 43% कम होती है। वहीं जो कपल 10 साल तक साथ में रहे उनके अलग होने की संभावना 94% कम हो जाती है।

मैच्योरिटी से होते हैं रिश्ते मजबूत
पर्सनल और प्रोफेशलन लाइफ बैलेंस बनाना आसान नहीं है। लेकिन अगर कपल्स के बीच मैच्योरिटी है, तो उनका रिश्ता हमेशा ही बेहतर रहेगा। यही एक वजह भी है कि जहां प्यार होता है वहां उम्र से कोई फर्क नहीं पड़ता। शादी के बाद न केवल मीरा ने घर की जिम्मेदारियों को बखूबी संभाला बल्कि हर तरह के सोशल कल्चर से दूर रहीं।

उन्होंने शाहिद के वर्क एक्सपीरियंस का फायदा उठाया और अपनी एक नई पहचान बनाई। मीरा ने अपने ऊपर स्टारडम हावी नहीं होने दिया। हालांकि, हर रिश्ते में छोटी-मोटी समस्याएं आती हैं लेकिन एक-दूसरे के सपोर्ट से चीजें बहुत आसान हो जाती हैं।

Source : Agency

आपकी राय

8 + 4 =

पाठको की राय